जानिए - सप्तऋषी अवार्ड के बारे में : - समाज और हम

समाज के समन्दर की मैं एक बूँद और प्रयास वैचारिक परमाणुओं को संग्रहित कर सागर की निर्मलता को बनाए रखना.

Tuesday, April 24, 2018

जानिए - सप्तऋषी अवार्ड के बारे में :


सप्तऋषी सम्मान समारोह में आपका ससम्मान स्वागत है। 

      बीजेपी नेत्री आदरणीय नीराशास्त्री जी को सप्तऋषी सम्मान 2017 से सम्मानित करते 
वाहिनी प्रमुख गुरूदेव पंकज भइया व वाहिनी के 
शीर्ष पदाधिकारी आदरणीय डब्बू श्रीवास्तव जी। 


सप्तऋषी सामाजिक उत्थान एवं सरोकार सम्मान समारोह :


सप्तऋषी आवाह्न 

कायस्थवाहिनी की दहाड़

कायस्थ रत्न


जैसा कि आप सब जानते हैं कि इसी मृत्युलोक पर देवता, दानव, ऋषि, मुनि और महान समाज सुधारकों ने जन्म लेकर समाज को एक नवीन दिशा देकर हर युग युगांतर में अपने सुन्दर और स्वस्थ विचारों से परिपूर्ण सुकर्मों द्वारा धन्य कर दिया है। गौरतलब हो कि हमारे कायस्थ परिवारों में बेमिसाल शख्सियतों ने जन्म लेकर कायस्थकुलों व इस धरती को बार-बार कई बार  धन्य करके देश - दुनिया के इतिहास में अपने नाम और कार्यों को स्वर्णाक्षरों में लिखा कर हम सभी का सिर गर्व से ऊँचा कर दिया है। कहते हैं न इंसान चले जाते हैं पर उनके कार्य, विचार और शब्द हमेशा अमर रहतें हैं। बस इसी अमरता को विराटता देने हेतु भगवान् श्री चित्रगुप्त भगवान् जी ने मानो अपने परमप्रिय भक्त सर्वसम्मानीय गुरूदेव पंकज भइया कायस्थ जी को चुना और इशारा दिया कि जाओ जिस धर्म - जाति में जन्म लिया है उसका फर्ज निभाओ और प्रकाश बनकर अज्ञानता का नाश कर दो। यही वादा वचन निभाते हुए गुरूदेव ने कायस्थ समाज को आपसी प्रेम और सहयोग की कमजोर होती डोर को मजबूत करने का वीणा उठाया हुआ है। वह कहते हैं कि मेरे कुलवंशजों आश्वस्त रहो कि आप अकेले नहीं हो। बताओ कि यूं बनावट का मुखौटा लगा कर कब तक अलग-थलग रहोगे आइये! साथ और देखिए हमारी एकता क्या रंग लाती है। भगवान् श्री चित्रगुप्त जी के इसी इशारे को भांप कर श्रध्येय गुरूदेव जी ने कायस्थ वाहिनी अंतर्राष्ट्रीय का गठन किया। बतादें कि यह कायस्थ समाजहित में किया कि हमारे कुलवंशजों को एक सुसंस्कारी मंच मिले। अब प्रश्न उठता है सप्तऋषी सम्मान समारोह शुरू क्यों किया? इसका ससम्मान यही जवाब है कि अपने दूर-दराज देश - विदेश में बिखरे प्रतिभाशाली कुंदनरूप कायस्थ भाई - बहनों को, सप्तऋषी के भव्य चिरपरिचित मंच पर, उन सभी का भव्यता से स्वागत सम्मान कर सकें। जैसे- सप्तऋषी, कायस्थ रत्न, कायस्थ कुलभूषण इत्यादि सम्मान प्रदान करके देश-दुनिया के सामने सुन्दर, भव्य, संस्कारी आत्मिक और निस्वार्थ प्रेमरूप सहयोग और एकता माला में पिरो कर दुनिया के सामने एकरसता का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत कर सकें।
       तो, आइये! सप्तऋषी सम्मान समारोह 2018 दिल्ली, और अपनी उपस्थिति और सहयोग से इस आयोजन को महाआयोजन बना दें। जल्द ही इस कायस्थ सम्मान समारोह महायज्ञ मेंं  अपनी सदस्यता प्रेम, समय और सहयोगपूर्ण आहूति प्रदान करके इस विश्व चर्चित आयोजन का हिस्सा बनें और कायस्थ वाहिनी अंतर्राष्ट्रीय संगठन को सशक्त बनाने मेें अपनी प्रमुख और अग्रणी भूमिका निभायें क्योंकि यह आयोजन किसी व्यक्ति विशेष का नही आप सभी का है और आप सभी के समय और सहयोग के बिना सचमुच अधूरा है। भगवान् श्री चित्रगुप्त जी की अपार कृपा है कि जो महान कायस्थकुल में हम सभी का जन्म हुआ है और कहते हैं न हम इंसानों की मुक्ति भी तभी है जब हम निम्न तीन ऋण से उऋण नही हो जाते जो क्रमश:-1.देव ऋण, 2. ऋषि ऋण और 3. पितृ ऋण से खुद को मुक्त करें। तो, देवऋण से मुक्ति का यह सुनहरा अवसर आपके द्वार पर दस्तक दे रहा है। आइये! सप्तऋषी सम्मान समारोह 2018 का हिस्सा बन कर भाग्यश्री और ज्ञानश्री पाने के अधिकारी बनें।


देश के सर्वसम्मानीय पूर्व प्रधानमंत्री 
मा. लाल बहादुर शास्त्री जी की पुत्रबधु 
बीजेपी नेत्री आदरणीय नीरा शास्त्री 
जी को सप्तऋषी सम्मान 2017 देते 
हुए वाहिनी प्रमुख व वाहिनी
 शीर्ष पदाधिकारीगण। 


सप्तऋषी सम्मान समारोह की शुरुआत - 

इस सम्मान समारोह की शुरुआत कायस्थ वाहिनी अंतर्राष्ट्रीय प्रमुख पंकज भैया के द्वारा 2016 में कायस्थों के विभिन्न क्षेत्रों में उनके सराहनीय कार्यों को देखते हुए उनके सम्मान में की गई थी। इस कार्यक्रम को जून माह के तीसरे रविवार को आयोजित किया जाता है। 

सप्तऋषी अवार्ड समारोह की सेवा एवं शर्त - 

कायस्थ वाहिनी कोर कमेटी के सदस्यों की सहमति से किन्हीं विशेष सात कुलवंशजों का चयन करके उन्हें सप्तऋषि सम्मान से सम्मानित किया जाता है। 






शर्तें -

1- जो भी कायस्थजन इस आयोजन की सदस्यता ग्रहण करना चाहते हैं, उसे वाहिनी का पदाधिकारी होना जरूरी नही बल्कि उसके मन में भगवान् श्री चित्रगुप्त जी व कायस्थों के कल्याण की भावना जरूरी है।

2- कोई भी जनकल्याणकारी कार्य बिना तन, मन, धन की सहयोग भावना के सफल नही होता। इसलिये सप्तऋषी सदस्यों को आयोजन को सफल बनाने हेतु आयोजन के अंत तक वाहिनी द्वारा प्रदत्त सेवा कार्य पूरी ईमानदारी, निष्ठा और विनम्रता का परिचय देना होता है। 

3- गौरतलब हो कि जो भी महानुभाव एक बार सप्तऋषी सम्मान का अधिकारी बनता है वह दोबारा सप्तऋषी नहीं हो सकता। इस विश्व चर्चित आयोजन में देश -विदेश के कई सम्माननीय कायस्थ अतिथिजन उपस्थित होकर इस आयोजन को अपनी सेवाओं से सफल बनाते हैं। 

सप्तऋषी आयोजन स्थल - 

सप्तऋषी सम्मान समारोह का भव्य आयोजन इस वर्ष 17 जून 2018 दिन रविवार को राजधानी दिल्ली में किया जा रहा है।

नोयडा की रहनेवाले और ब्लड डोनेशन कैम्पेन
चलाने वाली महान समाजसेविका 
डा. रेनू वर्मा जी को सप्तऋषी समान से
सम्मानित करते हुये, वाहिनी प्रमुख और वाहिनी 
के शीर्ष पदाधिकारीगण। 


सप्तऋषि सम्मान समारोह का चुनाव-

सप्तऋषी सम्मान समारोह में विश्व के उन समस्त कायस्थ परिवारों से मात्र सात व्यक्तियों को चुना जाता है। जिनपर कोई प्रतिबंध नही कि वह वाहिनी से जुड़ा हो या नही। तथा जिन्होंने कायस्थ समाजहित व लोकहित में किये गये अविश्वमरणीय क्रिया- कलापों से कायस्थ कुल कीर्ति को चहुंओर फैलाकर भगवान् श्री चित्रगुप्त जी और कायस्थ शिरोमणि गुरूदेव पंकज भइया कायस्थ जी का नाम व अपने राष्ट्र का नाम रोशन किया हो। 


सप्तऋषी कोर कमेटी का कार्य - 
सप्तऋषि सम्मान समारोह में चुने गये सप्तऋषियों में साहित्यजगत, चिकित्सा जगत व भगवान् श्री चित्रगुप्त जी के अनन्य भक्त व सेवक को देने का प्रावधान है। जिनमें क्रमशः 1-कवि या लेखक, 2- चिकित्सा जगत से तथा 3- प्रभु चित्रगुप्त के प्रगटोत्सव पर प्रभु की महिमा को प्रसारित व प्रचारित करने व 4- विदेशों में जनकल्याणकारी कार्य व कायस्थहित में सेवायें देकर कायस्थों की प्रतिभाशीलता व एकता का बिगुल फूंकने वाले लोग होते हैं। इनमें योग्य प्रतिभागियों का चुनाव कायस्थ वाहिनी अंतर्राष्ट्रीय की 11 सदस्यीय कोर कमेटी द्वारा किया जाता है।


सप्तऋषी 2017 अतिथिगणों की झलक


सप्तऋषी समारोह के पुरस्कारों के नाम -
सप्तऋषी सम्मान समारोह में चुने गये सप्तऋषियों को सप्तऋषी अवार्ड देने के अतिरिक्त समाज में अपना अभूतपूर्व योगदान देने वाले उस व्यक्ति को जो अपनी मेहनत से व्यक्ति से उठकर व्यक्तित्व तक जा पहुंचा हो उनके सम्मान में उन्हें वाहिनी द्वारा कायस्थरत्न, कायस्थ कुलभूषण व कायस्थ शिरोमणि पुरस्कारों से अलंकृत किया जाता है। 




सप्तऋषी सम्मान समारोह के अतिथिगण - 
इस वर्ष  के भव्य सप्तऋषी सम्मान समारोह 17 जून 2018 दिन रविवार को दिल्ली में प्रस्तावित कार्यक्रम में  विगत वर्षों की तरह पूूूरे भारत के विभिन्न शहरों, गांवों समेत विदेशी राष्ट्रों जैसें- सिंगापुर, अमेरिका, मलेशिया, नाइजीरिया, नेपाल, दुबई सहित अन्य कई राष्ट्रों से कायस्थकुलवंशज अपनी गरिमामयी उपस्थिति से इस आयोजन की भव्यता बढ़ाकर, सफल बनाते हैं।





इस वर्ष का चुनाव - 



वाहिनी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार - 
इस वर्ष प्रभु चित्रगुप्त का प्रगट उत्सव जिसे वाहिनी प्रमुख की बीस वर्ष की तपस्या के तहत आज पूरे विश्व भर में चैत्र पूर्णिमा के शुभदिन बड़े ही हर्षोल्लास से मनाया गया, जिसमें भगवान् श्री चित्रगुप्त जी के अवतरण महापर्व की महत्ता पर आधारित एक मौलिक लेख लिखने का आवाह्न किया गया था। जिसमें 173 प्रविष्टियां प्राप्त हुईं जोकि भगवान् श्री चित्रगुप्त जी में आस्था का प्रतीक है। कोर कमेटी द्वारा सभी लेखों के पढ़ने के उपरांत एक लेख को बहुत सराहना मिली। उस महानविचारक एवं लेखक को भी इस भव्य सप्तऋषी के मंच पर सम्मानित किया जायेगा। 
       आप इस कार्यक्रम की भव्यता का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि इस कार्यक्रम में 49 देशों के गणमान्य अतिथियों के पहुंचने की सम्भावना जतायी जा रही है जो स्वंय में एक रिकार्ड होगा। गौरतलब हो कि कायस्थ वाहिनी अंतर्राष्ट्रीय के आत्मविश्वासी कदम सप्तऋषी अवार्ड को विश्व चर्चित वर्ल्ड गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड से आगें की यात्रा करने पर प्रयासरत् हैं। 


सप्तऋषी सम्मान समारोह 2017 की झलक-

http://samaytoday.in/2018/04/11/kayasth_vahini/


https://youtu.be/Lco3tCPBlps


    👉सप्तऋषि-2018 के अतिथि 👈



    गर्व के साथ सूचित किया जा रहा है कि सप्तऋषि-2018 जो इस वर्ष 17 जून को दिल्ली में आयोजित हो रहा हैं ।


     इस आयोजन में अपनी गरिमामयी उपस्थिति दर्ज कराने की अनुमति प्रदान की ....  




 1- श्री सुरेन्द्र कुलश्रेष्ठ जी(राष्ट्रीय अध्यक्ष)
कायस्थ सेना

2- श्री मनोज सक्सेना जी(प्रदेश अध्यक्ष)कौमी एकता मंच

3- श्री राजन श्रीवास्तव जी ( राष्ट्रीय महासचिव) कायस्थ जागरण संस्थान

4-श्री रविन्द्र प्रसाद जी( चैयरमैन )
ह्यूमेन राइट काउंसिल ऑफ इंडिया

5- श्री सुधांशु श्रीवास्तव जी
(राष्ट्रीय अध्यक्ष )राष्ट्रीय समाज पार्टी (एस)

6-श्री मनोज श्रीवास्तव जी(राष्ट्रीय अध्यक्ष)
राष्ट्रीय जागरण मंच

7-श्री अरुण सक्सेना जी(उपाध्यक्ष)
कायस्थ सभा यमुनाविहार

8-श्री प्रदीप सिन्हा जी(राष्ट्रीय महासचिव)
कायस्थ विरादरी महासभा

9- श्री मनोज जौहरी जी(अध्यक्ष)
उत्तर प्रदेश कायस्थ परिवार

10- विवेक श्रीवास्तव जी(राष्ट्रीय अध्यक्ष)
राष्ट्रीय स्वाभिमान दल

11- श्री राय अंकुरम श्रीवास्तव जी (राष्ट्रीय अध्यक्ष) सवर्ण एकता मंच

12- श्री पुदीदरू लाल श्रीवास्तव जीरी जिला जज लखनऊ. 

13- श्रीमती अंजली वास्तवजी (अध्यक्ष) आशा उन्नयन संस्थान 

14- श्री बसन्त श्रीवास्तव जी पू चेयरमैन नगरपालिका देवरिया

15- श्रीअमन माथुर कोषाध्यक्ष
भगवान श्री चित्रगुप्त कायस्थ समाज
समिति - पानीपत

16- श्री एस के सक्सेना जी री आई जी BSF

17- श्री शिवेन्द्रू सिन्हा जी राष्ट्रीय अध्यक्ष  कायस्थ यूनिटी क्लब - भूटान

18- श्री राकेश श्रीवास्तव जी
संरक्षक श्री चित्रगुप्त परिवार दिल्ली

19- श्री अतुल सक्सेना जी
पु विधायक प्रत्यासी - बरेली

20- श्री अंकित श्रीवास्तव जी
पु विधायक प्रत्यासी- कानपुर

21- श्री राकेश श्रीवास्तव जी अध्यक्ष यूआ जन शक्ति फाउंडेशन

22- श्री मनीष श्रीवास्तव जी राष्ट्रीय अध्यक्ष/संयोजक A.B.K.M- (2150)

23-श्रीमती रजनी श्रीवास्तव जी पु विधायक प्रत्यासी-नोएडा. 

24-गौरव श्रीवास्तव जी, राष्ट्रीय सँयुक्त महामन्त्री राष्ट्रीय कायस्थ विचार मंच

25-श्री सुनील श्रीवास्तव जी, संस्थापक, श्रीवास्तव बृद्ध सेवाश्र्म- बृज धाम

26- श्रीमती रोमी माथुर जी पु मेयर प्रत्यासी-गाज़ियाबाद. 

27-श्री हरिहर सिन्हा जी राष्ट्रिय वरिष्ठ उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय कायस्थ महापरिषद

28- श्री भानू सहाय जी, संस्थापक, बुंदेलखंड निर्माण मोर्चा

29- श्री पंकज सक्सेना जी, अध्यक्ष माया दर्पण मिशन

30- श्री अवधेश सक्सेना जी, संयोजक म.प्र. चित्रगुप्त प्राकट्य महोत्सव समिती

31- श्रीमती अंजू सक्सेना जी निदेशक सुन्दरदीप ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूसन

32-श्री विवेक सिन्हा फ़िल्म एवम टी वी, वॉलीवुड

33- श्री पवन श्रीवास्तव जी 
एडिटर टाइम्स नाउ, नोयडा

34- श्री मनोज कु श्रीवास्तव जी
असाइनमेंट हेड -सहारा समय

35- श्री अभय श्रीवास्तव जी
शासकीय अधिवक्ता प्रथम
उत्तर प्रदेश शासन

36-डॉ नवनीत प्रकाश श्रीवास्तव जी, 
राष्ट्रीय अध्यक्ष कायस्थ चित्रगुप्त महासभा

37- श्री अरविंद श्रीवास्तव जी, 
संस्थापक कायस्थ जीवनसाथी

38- श्री विक्रम श्रीवास्तव जी, 
अध्यक्ष कायस्थ ट्रस्ट

39-श्री गौतम ऋषि जी राष्ट्रीय स्तर के हस्तरेखा ज्ञाता

40- श्री अरुण कुमार श्रीवास्तव जी, असिस्टेंट कमाण्डेन्ट (RPSF)

41- श्री अरुण सक्सेना जी, अध्यक्ष इंटरनेशनल कन्जयूमर राइट प्रोटेक्ट्स काउंसिल

42- श्री राकेश कुमार "पुन्नू" जी
       प्रांतीय उपाध्यक्ष- बिहार
              ABKM

43- श्री दिनेश खरे जी,अध्यक्ष
     कोशिश फाउंडेशन

44-श्री शशिकान्त भटनागर जी, राष्ट्रिय सचिव 
ABKM (5680)

45-श्री अशोक श्रीवास्तव जी 
घुघना - गाज़ियाबाद 


  
पंकज भईया कायस्थ 

-  'सदस्य' सप्तऋषि आयोजन समिति

 


17 जून 2018, दिन रविवार, स्थान- दिल्ली, सप्तऋषी सम्मान समारोह का चिरपरिचित मंच - हमारी जीत का अध्याय लिखेगा। 

सप्तऋषी सम्मान समारोह में आप सभी की उपस्थिति हमारी एकता का प्रतीक बनेगी । मेरे सभी सम्मानीय कुलवंशजों ! यह सप्तऋषी का सम्मान समारोह का मंच एक सुनहरा सुअवसर है जहां हम कायस्थों की शक्ति, सामर्थ्य और प्रतिभा का अद्भुद, अद्धितीय, अप्रतिम, संगम सिद्ध होगा जो हम सभी के सपनों के आयामों को तय करने के अनेकों अनेक सफलताओं और सम्भावनाओं के द्वार खोलेगा । सच पूछो तो इस द्वार को खोलने के लिये आप सभी के साथ और विश्वासरूपी शक्ति चाबी की आवश्यकता होगी। तो आइये कुलवंशजों! भगवान् श्री चित्रगुप्त जी के आशीर्वाद से इस 17जून को जीत के जुनून और जश्न में परिवर्तित कर इतिहास रचें।


दिल्ली पधारिये, स्वंय को जगाइये

- पंकज भइया कायस्थ प्रमुख
 कायस्थवाहिनी अंतर्राष्ट्रीय 





Published in Newsportal 



अंतर्राष्ट्रीय सप्तऋषी सम्मान समारोह 17 जून को दिल्ली में सुनिश्चित

http://www.jantajanardan.com/NewsDetails/38850/अंतर्राष्ट्रीय-सप्तऋषी-सम्मान-समारोह-17-जून-को-दिल्ली-में-सुनिश्चित.htm


http://www.amjabharat.com/2018/05/17.html?spref=fb&m=1


http://ntvtime.com/archives/14531


http://anokhadeshnews.com/2018/06/02/अंतर्राष्ट्रीय-सप्तऋषी-स/





http://www.kvindia.live/Pages/SingleDetails.aspx?ID=1337


http://nareshsharma128.blogspot.com/2018/06/blog-post_1.html?m=1


http://indiainside.org/post.php?id=2859



http://www.kvindia.live/Pages/SingleDetails.aspx?ID=1337


http://dpknewsindia.com/?page=news_single&id=22914


http://simplilife.com/guests-from-49-countries-will-arrive/

                         
http://indiainside.org/post.php?id=2889






http://aajexpress.com/archives/9953




http://ntvtime.com/archives/15598




Published in newspaper








🌼🙏🙏🙏🌼


2 comments:

  1. राष्ट्रीय कायस्थ महापरिषद(जयपुर)पिछले वर्ष 2002 से अनवरत कायस्थ समाज, कायस्थ संस्थाओं, चित्रगुप्त मंदिरों,कायस्थ धर्मशालाओं के समग्र विकास के लिए निरंतर प्रयासरत है जो कि सर्वविदित है.माननीय अरविंद कुमार संभव की अध्यक्षता में इसकी खंड शाखाएं कई राज्यों मे फैली है जिसमें राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गोवा, उड़ीसा,असम दिल्ली आदि राज्य प्रमुख हैं. 39२ विभिन्न संस्थान इससे संवद्ध होने के कारण यह अखिल भारतीय स्तर पर प्रभावी है.
    मैं हरिहर सिन्हा इसका संस्थापक सदस्य एवं वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हूँ और समाजिक गतिविधियों से सरोकार रखता हूँ और निरंतर प्रयास करता रहता हूँ.
    मैं राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अरविन्द कुमार संभव का नाम सप्तऋषि सम्मान के लिए प्रस्तावित करता हूँ और इस हेतु आग्रह करता हूँ.
    महापरिषद अनावश्यक प्रचार प्रसार का कभी भी पक्षधर नहीं रहा है परन्तु अखिल भारतीय स्तर पर संस्थाओं के सामंजस्य के साथ कायस्थ समाज के समग्र विकास हेतु सदैव तत्पर है ऐसी हमारी मान्यता है.
    मैं व्यक्तिगत रुप एवं संस्था की ओर से समारोह मे भाग लेना चाहता हूँ. कृपया अपनी सम्मति दें ताकि मैं कायस्थ समाज के विकास हेतु आयोजित इस कार्यक्रम मे किंचित योगदान दे सकूँ.
    सप्तऋषि सम्मान के लिए नामांकन एवं भाग लेने हेतु यदि कोई प्रक्रिया हो तो जानकारी अवश्य दे ताकि उसका पालन करने की चेष्टा की जाय.
    धन्यवाद
    कार्यक्रम की सफलता हेतु शुभकामनाएं
    -हरिहर सिन्हा,
    वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष,
    राष्ट्रीय कायस्थ महापरिषद(जयपुर)
    निवास - 8L/129
    Bahadurpur Housing Colony
    Bhoot Nath Road
    Patna 800 026
    Mob:7903207172 also linked with WhatsApp.

    ReplyDelete