Monday, October 15, 2012

श्याम तुम्हीं लिखवाते हो.....****

                                                 




                                                   
श्याम तुम्हीं लिखवाते हो..

.................................
श्याम तुम्हीं लिखवाते हो
तुम्हीं ये शब्द बनाते हो
       तेरी लीला कोई ना जाना
       तुम फूलों मैं हँसते गाते हो 
 श्याम तुम्हीं सब लिखवाते हो
श्याम तुम्हीं शब्द बनाते हो
       तुम्हारी महिमा देवों ने गायी  
       तुम गोपाल कहलाते हो 
श्याम तुम्हीं लिखवाते हो 
तुम्हीं शब्द बनाते हो
         तेरी लीला प्रभु जी कही ना जाये 
         तुम तो लीलाधर कहलाते हो
तेरी ही इच्क्षा ही, हम आकांक्षा
 आकांक्षा तुम्हीं जगाते हो

..........................................
                               आकांक्षा सक्सेना 
                   औरैया, उत्तर प्रदेश 
       ..


        

1 comment: