Posts

बढ़ रहा है शॉर्ट फिल्मों का क्रेज :

Image
भारतीय शॉर्ट फिल्मों का सफल कारवां  :
            "समय की मांग है शॉर्ट फिल्में" ..........................................
दोस्तों ! हमारे भारत वर्ष और देश- दुनिया का सफल नाटक, चलचित्र और अथक परिश्रम के परिणामस्वरूप स्थापित हुये सुनहरे जगमगाते 'भारतीय सिनेमा कला जगत' का पूरे सवा सौ वर्ष पुराना महानतम् प्रतिभाशाली और अत्यन्त गौरवशाली इतिहास है | आज उसका चरम सीमा तक विस्तार हो चुका है जिसमें 3डी फिल्मों, नवीन टेक्नोलॉजी पर आधारित ऐक्शन फिल्में, जबरजस्त ऐनीमेशन फिल्में बन रहीं है | हम कह सकते हैं कि आज भी 'सिनेमा' मनोरंजन का पहला लोकप्रिय साधन बना हुआ है | इस क्षेत्र में बेरोजगार प्रतिभावान युवाओं को रोजगार पाने और अपने स्वप्नों को साकार करने की अपार क्षमता और अनंत सम्भावनायें हैं | इस क्षेत्र में कलाकार अपनी प्रतिभा और मेहनत के बल पर अन्तराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहिचान बना सकता है और अपना मन चाहा मुकाम पा सकता है |             इस कल्पना की खूबसूरत सुनहरी दुनिया 'सिनेमा' के इतिहास में साथियों ! विश्व की पहली फिल्म 'अरायव्हल ऑफ द ट्रैन' थी | हमारे…

Blog article in Newspaper/ Blog wallpapers / Shabd Image

Image
http://www.shrijainkalyan.com/Pages/SingleDetails.aspx?ID=4224

http://www.kvjpr.com/Pages/SingleDetails.aspx?ID=106











नये भारत का उदय आपके हाथ में :

Image
मतिदान ! हिन्दुस्तान छोड़ो ..............................
( मतिदान बन्द तो अपराध खत्म )

नया हिन्दुस्तान बनाने के लिये मतदान का बहिष्कार जरूरी है |        हिन्दुस्तान के परमहंस श्री रामकृष्ण दास जी के शिष्य राजर्षि स्वामी विवेकानन्द जी ने 19 सितम्बर सन् 1893 में अमरीका के शिकागो शहर में आयोजित विश्व सर्वधर्म सम्मेलन में हिन्दुस्तान के हिन्दुओं के आपसी सभ्य एवं भव्य मानवीय रिश्तों, मैत्री व सांस्कृतिक सम्बंधों के नैतिक गुण मूल्यों के सत्यवादी हिन्दू धर्म व परोपकारी हिन्दु कर्म की हिन्दुस्तान की पूर्वनिर्धारित व प्रचलित लोकतांत्रिक राजव्यवस्था संचालन की न्यायपालिका की संघात्मक ईश्वरीय कार्यप्रणाली का महिमामण्डल कर विश्वविजयी परचम लहराया था | इन्ही के शिष्य आई.सी.एस अफसर टैक्स कलेक्टर व आजाद हिन्द फौज के मुखिया नेताजी श्री सुभाष चन्द्र बोस जी ने 15 अगस्त सन् 1942 को सिंगापुर में हिन्दुस्तान की स्वतंत्रता, आजादी व मुक्तता का तिरंगा परचम लहराया था | वह हिन्दुस्तान में उक्त कार्यप्रणाली क्रियान्वित करना चाहते थे | 15 अगस्त सन् 1947 से लेकर अब तक समस्त हिन्दुस्तानियों ने अपना मतिदान किया बदले …

सेलेब टॉक : टीवी सैलीब्रिटीस 'इकबाल आजाद' जी का ब्लॉग इंटरव्यू |

Image
"ऐसा बनूंगा ऐक्टर कि रंग जमा के रहूंगा"









नमस्ते दोस्तों,

आइये आपको रूबरू कराते हैं टीवी सीरियल की दुनियाँ की जानी-मानी शख्शियत 'इकबाल आजाद'जी से | जो &tv पर नये कॉन्सेप्ट के साथ आपके बीच आपकी आशाओं पर खरा उतरने के लिये, आपकी सोच और मानसिकता में प्रेम, विश्वास, सादगी और सरलता के खूबसूरत रंग भरने के लिये एक बेहतरीन कहानी 'वानी - रानी' सीरियल के जरिये आपके दिलों में उतरने के लिये पूरी ईमानदारी से अहम किरदार के साथ दस्तक दे रहे हैं | 
      सामाजिक बदलाव बदलाव के पहरी, मनोरंजन के महारथी, टीवी सीरियल किंग, बहुमुखी प्रतिभा के धनी, बेमिशाल बेदाग सच्ची शख्शियत, सम्मानीय व्यक्तित्व  'इकबाल आजाद' जी से बातचीत के कुछ  अंश :
 आकांक्षा -   नमस्ते  सर
इकबाल आजाद जी  -  नमस्ते आकांक्षा 


सवाल - आपने वानी - रानी सीरियल को ही क्यों 
चुना ?

इकबाल - मैं तो कहूँगा कि इस सीरियल ने मुझे चुना | यह बेहतरीन प्रोडक्शन हाउस है और बेहतरीन कॉन्सेप्ट है | जब आप सीरियल देखेगें तो समझ
जायेगें | वैसे तो यह तमिल का सुपरहिट टीवी सीरियल रहा है जिसने टीवी इतिहास में अपना नाम स्वर्ण अक्ष…