जिंदगी का नाम जिंदगी है....
............................................................

जिंदगी का नाम जिंदगी है 

जिंदगी काँटों से सजी है

ज़िंदगी तो जिंदादिली है 


          कभी आँसू यहाँ कभी खुशियाँ यहाँ 

          खुद को खुद से मिलाती जिंदगी है 

          जिंदगी का नाम जिंदगी है 


कभी गोद मैं सोयी कहीं सड़कों पे बिछी

मिटके जीना सिखाती जिंदगी है 

जिंदगी का नाम जिंदगी है


         कभी शर्दी की धूप कभी बारिस की बूंद 

         रात को दिन मैं बदल देती जिंदगी है 

         जिंदगी का नाम जिंदगी है 


कहीं जलते है तन कहीं बुझते है मन

दिल को दिल से छीन लेती जिंदगी है
  
जिंदगी का नाम जिंदगी है 


         कहीं आँखों मैं बसे कहीं नज़रों से गिरे 

         छीन के फिर से लुटाती जिंदगी है 

         जिंदगी का नाम जिंदगी है 

कहीं मंदिर की आरती 
कहीं मस्जिद की नवाज 

तुझे तुझ मैं जगाती जिंदगी है 

जिंदगी का नाम जिंदगी है 


       कभी सोते से जगाये कभी जागते मैं सुलाए 

       सपनों मैं सपने दिखाती ज़िन्दगी है 

       जिंदगी का नाम ज़िंदगी है 


कहीं दूल्हा ये बनाये कहीं दुल्हन ये सजाये 

और फिर,अर्थी भी सजाती जिंदगी है
जिंदगी का नाम जिंदगी है 


          कभी अंगारों मैं बहे कभी समुन्दर पे चले 

          सब कुछ संभव है ये बताती ज़िंदगी है 

          ज़िंदगी का नाम ज़िंदगी है 


किसी ने जीते है देश किसी ने जीते विदेश
खुद को जीतना सिखाती ज़िंदगी है 

ज़िंदगी का नाम ज़िंदगी है


        कभी यादों मैं बसे कभी आसुओं से कहे 

        जीना तुझको सिखाती है ज़िंदगी है
        ज़िंदगी का नाम ज़िंदगी है 


कहीं धोके मैं डूबे कहीं प्रेम मैं नहाये  

नाम तुझको नया देती ज़िंदगी है 

ज़िंदगी का नाम ज़िंदगी है 


        कभी मजनूं के फटे कपड़े मैं दिखे 
        कभी लैला की भरी आँखों से बहे 
        रूह को रूह से मिलाती ज़िंदगी है 


ज़िंदगी ये तेरी ज़िंदगी है 
ये चाहती बस तेरी ख़ुशी है 

ज़िंदगी का नाम ज़िंदगी है 
.............................................

......................................
                      आकांक्षा सक्सेना 
               बाबरपुर,औरैया 
                 उत्तर प्रदेश
.........................................





       


...................................

                 
                

Comments

Popular posts from this blog

एक अश्रुकथा / कथा किन्नर सम्मान की...

स्टार भारत चैनल का फेमस कॉमेडी सो बना 'क्या हाल मि. पांचाल' :

सेलेब टॉक : टीवी सैलीब्रिटीस 'इकबाल आजाद' जी का ब्लॉग इंटरव्यू |