Monday, November 14, 2016

मोदी जी ने क्रियान्वित किया नेता जी 'बोस' का मिशन |




मोदीजी ने क्रियान्वित किया नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस जी का मिशन :


अपने जीवन के टेक्स चोरों, कालेधन के जमाखोरों, धोखाधड़ी के षड़यंत्रकारी, विभाजन एवं विनाशकारी देश के गद्दारों ने भारत को विदेशी डचों, पुर्तगालियों, यूनानियों, मुगलों एवं ब्रिटिश के अंग्रेजों का हजारों वर्षों तक गुलाम बनाकर रखा और इन्हीं गद्दारों ने भारत को विगत सत्तर वर्षों से अपना गुलाम बनाकर रखा नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस ने भारत से अंग्रेजों को भगाने की अपनी योजना के तहत देश के सभी थलमार्ग, वायुमार्ग एवं जलमार्ग बन्द करवा दिये थे | इससे घबराकर आनन-फानन में ब्रटिश के अंग्रेजों ने एक झटके में भारत को छोड़ दिया था और वे किसी तरह से अपनी जान बचाकर भारत छोड़कर भाग गये थे | 15 अगस्त सन् 1942 को सिंगापुर में नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस जी ने देश की स्वतंत्रता, आजादी व मुक्तता का तिरंगा लहरा दिया था | नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस की अगली योजना देश के गद्दारों को भारत से निकाल बाहर करने की थी | ये वे गद्दार थे जो देश के विभाजनकारी एवं विनाशकारी, धोखाधड़ी के षड़यंत्रकारी तथा अपने जीवन के टैक्सचोर व इस कालेधन के जमाखोर थे | नेताजी श्री सुभासचन्द्र बोस जी देश की थलसेना, वायुसेना एवं जलसेना को अत्यंत आधुनिक एवं विश्वविजयी सैन्यशक्तिशाली भारतीय सेना बनाना चाहते थे | तथा देश एवं विदेशों में जमा सम्बंधित भारतीय गद्दार नागरिकों का समस्त कालाधन देश के खजाने में जमाकर देश को स्मृद्धिशाली, वैभवशाली एवं विश्वविजयी सैन्यशक्तिशाली बनाकर देश का पुनर्निमाण करना चाहते थे | देश के प्रत्येक नागरिक को नेकनियति व नेकनीति का आदर्शगौरवशाली, महानप्रतिभाशाली एवं महानतम् मर्यादाशाली, अपराधमुक्त एवं रोजगारयुक्त, शिक्षित सभ्य भारतीय नागरिक बनाना चाहते थे |
   देश के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्रनाथ दामोदरदास मोदी जी देश की तीनों सेनाओं को अत्याधुनिक एवं विश्वविजयी बनाने में तथा राष्ट्र की प्रगति एवं विकास में और भारतीय जनजीवन को अपराधमुक्त एवं रोजगारयुक्त बनाने में प्रयासरत् हैं | इस काम के लिये धन की जरूरत है जो देश के सम्बंधित गद्दारों के पास स्वदेश एवं विदेशों में जमा हैं | उसे बाहर निकालने के लिये देश के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री मोदीजी ने वर्तमान नोट करेंसी को प्रतिबंधित कर परिवर्तित नोट करेंसी जारी करवा दी है जिससे कि देश के सम्बंधित गद्दारों को चिन्हित किया जाकर उनके पास देश में जमा कालाधन बसूला जा सके और भारतीय सेना को अत्याधुनिक एवं विश्वविजयी   सैन्यशक्तिशाली बनाया जाकर देश के प्रत्येक नागरिक को वफादार एवं ईमानदार, अपराधमुक्त एवं रोजगारयुक्त बनाया जा सके | अत: देश के प्रत्येक वफादार एवं ईमानदार भारतीय नागरिक को चाहिये कि वह अपने देश की फौज को मजबूत बनाने के लिये अपनी मौज की चिंता करना त्याग दे | देश के इन मुट्ठीभर गद्दारों की वजह से ही भारत सरकार को नोट करेंसी बदलनी पड़ रही है और देश के वफादार, ईमानदार नागरिकों को इन गद्दारों की वजह से तकलीफ उठानी पड़ रही है| लिहाजा देश के प्रत्येक वफादार व ईमानदार नागरिक का यह कर्तव्य है कि वह देश की व अपनी सुरक्षा की खातिर भारत सरकार का सहयोग करें | जिस प्रकार नेताजी श्री सुभाषचन्द्र बोस जी ने देश के खातिर अपना परिवारिक सुख त्याग दिया उसी प्रकार श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भी अपना परिवारिक सुख त्यागा हुआ है | श्री मोदी जी जो कुछ भी कर रहे हैं क्या वह अपने निजिहित में कर रहे हैं वो तो सब राष्ट्रहित में कर रहे हैं और हर अच्छे कार्य के लिये कस्ट तो उठाना ही पड़ता है | देश की जनता ने कांग्रेस पार्टी के आवाहन पर विगत सत्तर साल दिये तो मोदी जी के आवाहन पर पचास दिन देने में क्या दिक्कत है ? देश के प्रत्येक नागरिक से क्या पाकिस्तान व चीन का खेल छिपा हुआ है ?  मोदीजी ने देश की तीनों सेनाओं को पहले से ही सचेत कर दिया है कि देश के अंदर एवं बाहर कोई भी गद्दार न आ सके और न जा सके | श्री मोदी जी ने अपनी विदेश नीति के तहत विश्व के समस्त सम्बंधित देशों से ऐसे समझोते किये हैं जिन्हें आजतक विगत सत्तर वर्षों में कोई नहीं कर पाया | देश के प्रत्येक नागरिक को अपने वर्तमान प्रधानमंत्री पर गर्व होना चाहिये, उनका मनोबल बढ़ाना चाहिये और उनका साथ देना चाहिये | देश के जागरूक नागरिकों को ऐसे गद्दार लोगों के भड़काने में नहीं आना चाहिये जो अपने जीवन के टैक्सचोर व कालेधन के जमाखोर, धोखाधड़ी के षड़यंत्रकारी तथा देश के विभाजनकारी एवं विनाशकारी हैं जिनकी अब खैर नही | जिस प्रकार नेताजी ने देश को बाहरीरूप से स्वतंत्र, आजाद एवं मुक्त कराया है उसी प्रकार मोदीजी देश को आंतरिक रूप से स्वतंत्र,आजाद व मुक्त कराने में तथा आतंक, भ्रष्टाचार एवं दुराचार को समूल मिटाने में पूर्ण रूप से कार्यरत् हैं और उनका यह नेक नियति व नेकनीति का प्रयास सराहनीय है |

आकांक्षा सक्सेना
ब्लॉगर समाज और हम

1 comment:

  1. अक्षरशः सत्य है - देश के प्रत्येक नागरिक को अपने वर्तमान प्रधानमंत्री पर गर्व होना चाहिये, उनका मनोबल बढ़ाना चाहिये और उनका साथ देना चाहिये |

    ReplyDelete