जय माँ गंगे
           ***************
  जय माँ गंगे जय माँ गंगे 
   जय तारनहारी माँ गंगे 
   जय मोक्षदायनी माँ गंगे
   जय माँ गंगे जय माँ गंगे 

        निर्मल पावन नाम तेरा माँ गंगे
        निर्मल पावन जल तेरा माँ गंगे 
        आप क्षमादात्री माँ गंगे 
        आप दया की देवी माँ गंगे 

आप स्वर्ग की महादेवी माँ गंगे 
भागीरथ ने तपस्या की माँ गंगे 
शिवजटाओं मैं स्थान लिया माँ गंगे 
धरती पर उतरीं प्रेमधार बनके माँ गंगे 

      आपको सभी ने ध्याया 
      चाहें हो ऋषि-मुनि धर्मात्मा 
      जय माँ गंगे जय माँ गंगे 
      आज समय है बदल गया 

  आज का आदमी स्वार्थ मैं फंसा 
  माँ के आँचल को मैला करते 
  कहाँ से कहाँ तक है गिर गया 
  हे! गंगे माँ क्षमा करो 

     हम सभी को सद्बुद्धि  दो 
     हम सभी गंगे माँ को पहचाने 
     उनकी निर्मलता में ध्यान लगावें
   जीवन ये अपना यूहीं ना गवायें  

  हाथ से अब हाथ मिलायें
  गंगे माँ को स्वच्छ बनायें
 ये माँ गंगे साक्षात् आदिशक्ति हैं
  उनकी तारनहारी शक्ति पहिचाने
................................
"जो दर्शन करे तर जावे 
जो आचमन करे तर जावे 
जो सुमिरन करे तर जावे"
ॐ ॐ ॐ ॐ ॐ 













………........................
        ***** जय माँ गंगे ******

              आकांक्षा सक्सेना
              बाबरपुर, औरैया 
              उत्तर प्रदेश 
                 
                

Comments

Popular posts from this blog

एक अश्रुकथा / कथा किन्नर सम्मान की...

रोमांटिक प्रेम गीत.......

सेलेब टॉक : टीवी सैलीब्रिटीस 'इकबाल आजाद' जी का ब्लॉग इंटरव्यू |