Priytam



                                  

                                        हे! प्रियतम 

...............................................................................

काश! हम पानी बन जाएँ 

आपके चरणों से टकरा के टकरा जाएँ ।।

                हे ! प्रियतम उस दिन प्यास मिटे 

                आपके चरणों के दर्शन पा जाएँ ।।

पाँव पखारूँ दर्शन पाऊँ 

सेवा का सुअवसर पाऊँ।। 

               हे ! प्रियतम उस दिन हम स्वयं मिटें 

               जिस दिन आपके किसी काम हम आ जाएँ ।।

...........................................................................

                ॐ ।।   हे ! प्रभु  सभी पर कृपा करें ।।ॐ 

               ।।हम सभी आपके भक्त हैं प्रभु जी ।।

...............................................................................
...........................................................................................................................................







Comments

Popular posts from this blog

एक अश्रुकथा / कथा किन्नर सम्मान की...

स्टार भारत चैनल का फेमस कॉमेडी सो बना 'क्या हाल मि. पांचाल' :

सेलेब टॉक : टीवी सैलीब्रिटीस 'इकबाल आजाद' जी का ब्लॉग इंटरव्यू |