सत् सत् नमन ..... सच्चे भारत रत्न को........ सत् सत् नमन - समाज और हम

समाज के समन्दर की मैं एक बूँद और प्रयास वैचारिक परमाणुओं को संग्रहित कर सागर की निर्मलता को बनाए रखना.

Wednesday, July 29, 2015

सत् सत् नमन ..... सच्चे भारत रत्न को........ सत् सत् नमन


          !!देश की हस्ती नहीं शक्ति गयी!!  


बच्चों की एक ताकत एक उम्मीद गयी है.... ये रिक्त स्थान कोई  नहीं भर सकता ....


      



No comments:

Post a Comment