Friday, September 21, 2012

Shri Krshn Bhajan


                        श्री कृष्ण भजन 

                 (तू जिस हाल मै  रखेगा .....)
.................................................................................
तू जिस हाल मै रखेगा उस हाल मैं  जी लेंगें 
आधी रोटी खा के कान्हा,तेरा भजन कर  लेंगें ।।

                 तू जिस हाल मैं  रखेगा उस हाल मै जी लेंगें         

तुझको  पसंद है जो ये आँशु तो जी भर के हम रो लेंगे  
तड़प -तड़प के कान्हा जी हम जिंदगी  जी लेंगें ।। 

              तू जिस हाल मैं   रखेगा  उस हाल मै जी लेंगें 

तुझको पसंद है,जो मेरी हार तो हार के ही  जी लेंगें 
मिट -मिट के  ओ कान्हा जी ये  जिंदगी जी लेगें ।।

            तू जिस हाल मै रखेगा उस हाल मै  जी लेंगें 

तुझको पसंद है जो संकीर्तन  तो आठो पहर कर  लेंगें
तेरी ख़ुशी  की खातिर कान्हा  कुछ भी हम सह लेंगें ।।

           तू जिस हाल मैं  रखेगा उस हाल मै  जी लेंगें 

अंत समय ओ कान्हा जी बस एक जिद्द कर  लेंगें 
तुझे देखे बिना ओ कान्हा जी,हम श्वांस नहीं छोडेंगे ।।

तू जिस हाल मै  रखेगा उस हाल मै  जी लेंगें 

प्रभु हम आश नहीं छोड़ेंगे, विश्वास नहीं  छोडेंगे 
तेरे चरण छुए बिना संसार नहीं छोड़ेंगे 

तू जिस हाल मै  रखेगा उस हाल मैं  जी लेंगें ।।
.................................................................................
*************जय श्री कृष्ण *******************

....अप्रैल 2012,
                                                                                               आकांक्षा सक्सेना 
                                                  बाबरपुर औरैया 
                                                       (उत्तर प्रदेश)  


No comments:

Post a Comment